Hanuman Shabar Mantra: हनुमान शाबर मंत्र का पूर्ण मार्गदर्शन

शाबर मंत्र भारतीय लोक परंपराओं से जुड़े सरल मंत्र पठन का रूप है। भगवान हनुमान के शाबर मंत्र भी हैं, जो सफलता और कार्य सिद्धि में सहायक होते हैं। यह मंत्र प्रयोग भक्ति और आस्था के साथ किया जाता है।

शाबर मंत्रों का अध्ययन एक अनुभवी गुरु के मार्गदर्शन में किया जाना चाहिए। मंत्रों का जाप ईश्वर के साथ गहरा संबंध बनाने में मदद करता है। इसके अलावा, सातत्य, आस्था, और भक्ति पर बल देने वाले आध्यात्मिक अभ्यास का महत्व है।

लेख सारिणी

हनुमान शाबर मंत्र

पहला साबर मंत्र :

ओम गुरुजी को आदेश गुरजी को प्रणाम, धरती माता धरती पिता,धरती धरे ना धीरबाजे श्रींगी बाजे तुरतुरि आया गोरखनाथमीन का पुत् मुंज का छड़ा लोहे का कड़ा हमारी पीठ पीछे यति हनुमंत खड़ा, शब्द सांचा पिंड काचास्फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा।।

ध्यान रहे, उपरोक्त मंत्र को 7 बार पढ़ कर चाकू से अपने चारों तरफ रक्षा रेखा खींच ले गोलाकार, स्वयं हनुमानजी साधक की रक्षा करते हैं। शर्त यह है कि मंत्र को सिद्ध करने के बाद विधि विधान से पढ़ा गया हो।

दूसरा मंत्र :

बिस्तर के आस-पास।
हवेली के आस-पास।
छप्पन सौ यादव।
लंका-सी कोट,
समुद्र-सी खाई।
राजा रामचंद्र की दुहाई।

तीसरा हनुमान साबर मंत्र

ॐ नमो बजर का कोठा,
जिस पर पिंड हमारा पेठा।
ईश्वर कुंजी ब्रह्म का ताला,
हमारे आठो आमो का जती हनुमंत रखवाला।

चौथा साबर मंत्र (श्री हनुमान जंजीरा मंत्र )

ॐ हनुमान पहलवान पहलवान, बरस बारह का जबान,
हाथ में लड्‍डू मुख में पान, खेल खेल गढ़ लंका के चौगान,
अंजनी का पूत, राम का दूत, छिन में कीलौ
नौ खंड का भू‍त, जाग जाग हड़मान (हनुमान)
हुंकाला, ताती लोहा लंकाला, शीश जटा
डग डेरू उमर गाजे, वज्र की कोठड़ी ब्रज का ताला
आगे अर्जुन पीछे भीम, चोर नार चंपे
ने सींण, अजरा झरे भरया भरे, ई घट
पिंड की रक्षा राजा रामचंद्र जी लक्ष्मण कुंवर हड़मान (हनुमान) करें।

पांचवां साबर मंत्र

ॐ पीर बजरंगी, राम-लखन के संगी, जहां-जहां जाय,
विजय के डंके बजाय, दुहाई माता अंजनी की आन।

हनुमान साबर अढाईआ मंत्र :

॥ ॐ नमो आदेश गुरु को, सोने का कड़ा,
तांबे का कड़ा हनुमान वन्गारेय सजे मोंढे आन खड़ा ॥

हनुमान शाबर जाप मंत्र के नियम

सर्व कार्य सिद्धि हनुमान शाबर मंत्र क्या है?

सर्व कार्य सिद्धि कार्य सिद्ध करें हनुमान शाबर मंत्र से। इस कलयुग मैं देवताओं में बजरंगी बली ही ऐसे देवता हैं, जो अपने भक्तों पर बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं | छोटे- छोटे उपायों व मंत्रों से हनुमान जी प्रसन्न हो जाते हैं। इस हनुमान शाबर मंत्र का प्रयोग सफलता पाने और कार्यों को सिद्ध करने के लिए किया जाता है।
इस मंत्र को पीर बजरंगी मंत्र के नाम से भी जाना जाता है।मंत्र का जाप पूरी आस्था और भक्ति के साथ ही करना चाहिए। इस साधना को करते समय ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।।

सर्व कार्य सिद्धि हनुमान शाबर मंत्र

ॐ पीर बजरंगी राम लक्ष्मण के संगी जहां जहां जाय फतेह के डंके बजाय माता अंजनी की आन |
"ओम पीर बजरंगी राम लक्ष्मण के संगी जहां जहां जाए फतेह के धनके बजय दुहाई माता अंजनी की आन।"

सर्व कार्य सिद्धि हनुमान शाबर मंत्र का जाप कैसे करें

  • गुरु की आराधना:मंत्र की सिद्धि के लिए गुरु की पूजा करें।
  • सही समय: मंगलवार की सुबह या किसी भी शुभ समय पर साधना शुरू करें।
  • पूजा:साधना शुरू करने से पहले हनुमान मंदिर में सिन्दूर, लाल कपड़ा, मिठाई, और फूल चढ़ाएं।भगवान हनुमान की तस्वीर के सामने धूप और तेल का दीपक जलाएं।
  • मंत्र जाप:इस मंत्र को तुलसी माला से 108 बार जाप करें।यह अभ्यास 10 दिन तक जारी रखें।
  • दान: हर दिन साधना के बाद ब्राह्मणों को भोजन कराएं।

इस साधना को भक्ति और आस्था के साथ करें और ब्रह्मचर्य का पालन करें।

Hanuman Shabar Mantra हनुमान शाबर मंत्र का पूर्ण मार्गदर्शन-पंचमुखी हनुमान जी का मंत्र क्या है

पंचमुखी हनुमान जी का मंत्र क्या है?

हनुमान जी का विराट रूप पांच मुखों वाला है जो इस प्रकार से है- पूर्व- हनुमान मुख, पश्चिम- गरुड मुख, उत्तर- वराह मुख, दक्षिण- नृसिंह मुख और आकाश-अश्व मुख।यह अत्यंत प्रभावशाली मंत्र प्रतिदिन जपने से काले जादू-टोने, बुरी नजर, भूत-प्रेत को भी नष्ट करता है।

शत्रु नाशक पंचमुख हनुमान मंत्र | Enemy Destroyer Panchmukh Hanuman Mantra

ॐ पूर्व कपि मुखाय पंचमुख हनुमते टं टं टं टं टं सकल शत्रु संहारणाय स्वाहा 

इस शत्रु नाशक हनुमान मंत्र की विधि इस प्रकार है

  • इस मंत्र का हर दिन सवेरे या रात को सोने से पहले ७, ११, २१ बार पूर्व दिशा की और आसन लगाकर के बोलें।
  • मंत्र जाप किसी भी दिन शुरू कीया जा सकता है।

तेज रूप पंचमुखी हनुमान मंत्र | Tej Roop Panchmukhi Hanuman Mantra

प्रेत बाधा रोग बाधा ग्रह बाधा वह नजर दोष समाप्त करने का तेज रूप पंचमुखी हनुमान मंत्र
इस मंत्र को प्रतिदिन अपने घर दुकान या कार्यस्थल पर सुनने से प्रेत बाधा रोग बाधा ग्रह बाधा नजर दोष समाप्त हो जाती है यह मंत्र प्रतिदिन जिस स्थान पर सुना जाता है उस स्थान की नकारात्मक शक्तियां नष्ट हो जाती है

ॐ दक्षिणमुखाय पञ्चमुखिहनुमते करालवदनाय नरसिंहाय
ह्रां, ह्रां, ह्रां, ह्रां, ह्रां सकलभूतप्रेतदमनाय स्वाहा ।

राम बाण शाबर मंत्र

अगर आप अकेले में जाने से डरते हैं, तो यह राम बाण शाबर मंत्र आपकी रक्षा कर सकता है। इस मंत्र का प्रयोग करके आप दुर्भाग्य, बुरी शक्तियों और अपशक्तियों से बच सकते हैं।इस मंत्र को सात बार पढ़कर दोनों हतेलियों पर फूंक मारना हे और उसे पुरे शरीर पर घुमा लेना हे। इससे आपकी रक्षा होगी। यह मंत्र आपकी रक्षा में सहायक हो सकता है और इसे किसी भी स्थान पर इस्तेमाल किया जा सकता है, जैसे कि बाहर जा रहे समय या बुरे स्वप्नों से बचने के लिए। यह मंत्र स्वयंसिद्ध है और सीधे रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है

उत्तर बांधों, दक्षिण बांधों, बांधों मरी मसानी,
नजर-गुजर देह बांधों रामदुहाई फेरों शब्द शाचा,
पिंड काचा फुरो मंत्र ईश्वरों बाचा।

ॐ हनुमान पहलवान मंत्र

Hanuman Shabar Mantra हनुमान शाबर मंत्र का पूर्ण मार्गदर्शन ॐ हनुमान पहलवान मंत्र

इस शाबरी मंत्र साधना को अत्यंत दुर्लभ माना जाता है। इस मंत्र साधना को करने के लिए गुरु के मार्गदर्शन में ही आगे बढ़ना चाहिए, जिससे साधना में सफलता प्राप्त करना सरल होता है।

ॐ हनुमान पहलवान । वर्ष बारह का जवान ।।
हाथ में लड्डू मुख में पान। आओ-आओ बाबा हनुमान ॥
न आओ तो दुहाई महादेव- गौरा पार्वती की ॥
शब्द सांचा पिण्ड कांचा । फुरे मन्त्र ईश्वरो वाचा ॥

गुप्त हनुमान शाबर मंत्र

यहां हम आपको एक ऐसे गुप्त हनुमान शाबर मंत्र का परिचय कर रहे हैं, जिससे एक अलौकिक शक्ति का संबंध होता है। कई हनुमान मंत्र होते हैं, लेकिन यह मंत्र एक लुप्त और गुप्त मंत्र है। कुछ सिद्ध गुरु इसे सिद्ध होने पर साधक में एक दिव्य दृष्टि की प्राप्ति की बात करते हैं, जिससे साधक जमीन के नीचे यक्ष, गन्धर्व, यक्षिणी, योगिनी, और अन्य गुप्त शक्तियों को देख सकता है।

ॐ हनुमान पहलवान । वर्ष बारह का जवान ।।
हाथ में लड्डू मुख में पान। आओ-आओ बाबा हनुमान ॥
न आओ तो दुहाई महादेव- गौरा पार्वती की ॥
शब्द सांचा पिण्ड कांचा । फुरे मन्त्र ईश्वरो वाचा ॥

राम बाण शाबर मंत्र

अगर आप अकेले में जाने से डरते हैं, तो यह राम बाण शाबर मंत्र आपकी रक्षा कर सकता है। इस मंत्र का प्रयोग करके आप दुर्भाग्य, बुरी शक्तियों और अपशक्तियों से बच सकते हैं।इस मंत्र को सात बार पढ़कर दोनों हतेलियों पर फूंक मारना हे और उसे पुरे शरीर पर घुमा लेना हे। इससे आपकी रक्षा होगी। यह मंत्र आपकी रक्षा में सहायक हो सकता है और इसे किसी भी स्थान पर इस्तेमाल किया जा सकता है, जैसे कि बाहर जा रहे समय या बुरे स्वप्नों से बचने के लिए। यह मंत्र स्वयंसिद्ध है और सीधे रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है।

उत्तर बांधों, दक्षिण बांधों, बांधों मरी मसानी,
नजर-गुजर देह बांधों रामदुहाई फेरों शब्द शाचा,
पिंड काचा फुरो मंत्र ईश्वरों बाचा।

Hanuman Shabar Mantra Pdf


FaQs

हनुमान जी का असली मंत्र कौन सा है?

‘ॐ हं हनुमते नमः।’ – इस चमत्कारी मंत्र वाणी का जाप करने से व्यक्ति कार्यों में सफलता प्राप्त कर सकता है।’ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकायं हुं फट्।’ – यह हनुमान जी का एक शक्तिशाली रुद्र मंत्र है।

हनुमान जी का शाबर मंत्र कैसे सिद्ध करें?

हनुमान जी का शाबर मंत्र सिद्ध करने के लिए आपको किसी समर्थ गुरुदेव से मंत्र दीक्षा लेनी चाहिए। गुरुदेव की मार्गदर्शन में आपको रुद्राक्ष, मूंगे या लाल चन्दन की माला का उपयोग करके मंत्र का जाप करना चाहिए। इस प्रक्रिया के माध्यम से मंत्र का सिद्ध होने में सहायता मिलेगी।

हनुमान जी के सबसे शक्तिशाली मंत्र कौन सा है?

हनुमान जी के सबसे शक्तिशाली मंत्र में से एक है ‘ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्।’ यह मंत्र हनुमान जी की कृपा से शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने की अद्भुत शक्ति प्रदान करता है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!