मुंडन मुहूर्त 2024 ठाकुर प्रसाद । Mundan Muhurat 2024 Thakur Prasad

Mundan Muhurat 2024 Thakur Prasad : हिन्दू धर्म में, 16 संस्कार किए जाते हैं जिनमें से आठवां संस्कार है मुंडन संस्कार। जन्म के समय से जो बाल बच्चे के सिर पर होते हैं, उन्हें हिन्दू धर्म में शुभ नहीं माना जाता है, इसलिए उन्हें उतार दिया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, मनुष्य को 84 लाख योनियों के बाद ही मानव जीवन मिलता है। इसलिए, शिशु के पिछले जन्म के पापों को शुद्ध करने के लिए उसके बालों का कटाई जाना बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है।

गर्भावस्था के दौरान, शिशु के जन्म के बाद उसके सिर के बालों को काटने को मुंडन संस्कार के रूप में जाना जाता है। इस संस्कार से गर्भावस्था की अशुद्धियों को दूर किया जाता है, और सामान्य रूप से, शिशु के जन्म के बाद पहली बार उसके बालों को काटा जाता है।कई जगहों पर मुंडन के समय सर पर शिखा या चोटी भी छोड़ी जाती है। माना जाता है कि इससे राहु ग्रह की शांति होती है।

हम आपको अपने इस पोस्ट में ठाकुर प्रसाद कैलेंडर 2024 मुंडन मुहूर्त (Mundan Muhurat 2024 Thakur Prasad) के बारे में पूरी जानकारी देंगे। इसमें सभी तिथियों सहित के विवाह के लिए शुभ मुहूर्त का समय का भी जानकारी दिया गया है

ठाकुर प्रसाद कैलेंडर के अनुसार विवाह मुहूर्त (2024)

Mundan Muhurat 2024 Thakur Prasad

जैसे कि जनवरी माह नए साल के प्रतीक के रूप में माना जाता है, ठीक उसी तरह से, बच्चे के जीवन में भी इस महीने से नया अनुभव शुरू होता है। हालांकि, इस माह में नक्षत्रों के सही स्थिति की वजह से कोई भी मुंडन के शुभ मुहूर्त उपलब्ध नहीं होता है।

Mundan Muhurat January 2024

जनवरी माह में अनुकूल नक्षत्र की अभावता के कारण, इस माह में कोई भी मुंडन संस्कार के लिए शुभ मुहूर्त उपलब्ध नहीं होता है।

Mundan Muhurat February 2024

  • 21/02/2024 बुधवार – सुबह 08:19 से सुबह 9:50 तक और सुबह 11:30 से दोपहर 01:28 तक, नक्षत्र: पुनर्वसु
  • 22/02/2024 गुरुवार – सुबह 08:15 से सुबह 9:46 तक और सुबह 11:26 से दोपहर 01:21 तक, नक्षत्र: पुष्य
  • 29/02/2024 गुरुवार – सुबह 10:59 से दोपहर 12:57 तक, नक्षत्र: स्वाति

Mundan Muhurat March 2024

  • 08/03/2024 शुक्रवार – सुबह 07:16 से सुबह 08:47 तक और सुबह 10:27 बजे से दोपहर 12:25 बजे तक, नक्षत्र: श्रावण
  • 20/03/2024 बुधवार – सुबह 06:13 बजे से दोपहर 01:19 बजे तक, नक्षत्र: पुष्य
  • 27/03/2024 बुधवार – सुबह 06:15 बजे से 28/03/2024 सुबह 06:16 बजे तक, नक्षत्र: चित्रा
  • 28/03/2024 गुरुवार – सुबह 06:16 बजे से शाम 06:38 बजे तक, नक्षत्र: स्वाति

Mundan Muhurat April 2024

  • 04/04/2024 गुरुवार – सुबह 09:47 बजे से दोपहर 01:29 बजे तक और सुबह 09:47 बजे से दोपहर 01:29 बजे तक, नक्षत्र: श्रावण
  • 05/04/2024 शुक्रवार – सुबह 08:37 बजे से सुबह 10:07 बजे तक, नक्षत्र: धनिष्ठा
  • 15/04/2024 सोमवार – सुबह 07:58 बजे से दोपहर 12:09 बजे तक, नक्षत्र: पुनर्वसु

Mundan Muhurat May2024

  • 03/05/2024 शुक्रवार – सुबह 06:49 बजे से सुबह 11:00 बजे तक, नक्षत्र: शतभिषा
  • 10/05/2024 शुक्रवार – दोपहर 12:52 बजे से शाम 05:26 बजे तक, नक्षत्र: रोहिणी, चित्रा
  • 20/05/2024 सोमवार – शाम 04:52 से 21/05/2024 शाम 5:27, नक्षत्र: चित्रा
  • 24/05/2024 शुक्रवार – सुबह 07:45 बजे से सुबह 11:53 बजे तक, नक्षत्र: अनुराधा
  • 29/05/2024 बुधवार – सुबह 09:17 बजे से शाम 04:11 बजे तक, नक्षत्र: श्रावण
  • 30/05/2024 गुरुवार – सुबह 06:59 बजे से सुबह 09:13 बजे तक और 11:34 सुबह से शाम 06:27 तक, नक्षत्र: धनिष्ठा

Mundan Muhurat June 2024

  • 10 जून 2024, सोमवार – शाम 04:15 बजे से शाम 07:45 बजे तक, नक्षत्र: पुष्य
  • 17 जून 2024, सोमवार – सुबह 06:44 बजे से सुबह 08:31 बजे तक और सुबह 10:23 बजे से शाम 05:16 बजे तक, नक्षत्र: चित्रा
  • 21 जून 2024, शुक्रवार – सुबह 09:27 बजे से सुबह 11:04 बजे तक, नक्षत्र: ज्येष्ठ
  • 24 जून 2024, सोमवार – सुबह 09:48 बजे से सुबह 11:20 बजे तक, नक्षत्र: उत्तराषाढ़ा
  • 26 जून 2024, बुधवार – सुबह 09:48 बजे से शाम 04:41 बजे तक, नक्षत्र: धनिष्ठा

Mundan Muhurat July 2024

  • 15 जुलाई 2024, सोमवार – दोपहर 02:49 बजे से शाम 4:35 बजे तक, नक्षत्र: स्वाति

Mundan Muhurat August,Septemeber,October,Novemeber and December 2024

2024 के अगस्त, सितंबर, अक्टूबर, नवंबर, और दिसंबर महीनों में मुंडन संस्कार के लिए शुभ मुहूर्त नहीं हो सकता क्योंकि नक्षत्रों की सही स्थिति उपलब्ध नहीं होती

Vichitra Veer Hanuman Mala Mantra | विचित्र वीर हनुमान माला मंत्र Vichitra Veer Hanuman Mala Mantra विचित्र वीर हनुमान माला मंत्र

Vichitra Veer Hanuman Mala Mantra | विचित्र वीर हनुमान माला मंत्र

विचित्र वीर हनुमान माला मंत्र भगवान हनुमान को समर्पित एक शक्तिशाली मंत्र है, जो इच्छाओं को पूरा करने और…

Subramanya Prasanna Mala Mantra(श्री सुब्रह्मण्य प्रसन्न माला मन्त्र) Subramanya Prasanna Mala Mantra(श्री सुब्रह्मण्य प्रसन्न माला मन्त्र)

Subramanya Prasanna Mala Mantra(श्री सुब्रह्मण्य प्रसन्न माला मन्त्र)

Subramanya Prasanna Mala Mantra: एक पवित्र और शक्तिशाली मंत्र है, जिसका उपयोग भगवान सुब्रह्मण्य की पूजा और आराधना…

Sri Datta Mala Mantra । श्री दत्त माला मंत्र [PDF] Sri Datta Mala Mantra । श्री दत्त माला मंत्र [PDF]

Sri Datta Mala Mantra । श्री दत्त माला मंत्र [PDF]

समस्या, विरोध, आणि अनारोग्य निवारणासाठी अत्यंत प्रभावी उपाय आहे. व्यवहारिक प्रयत्नांबरोबर हा दैवी उपाय अवश्य करून पहावा. श्रीदत्तमाला मंत्र सिद्ध…

मुंडन संस्कार के लिए ध्यान रखने योग्य नियम

मुंडन संस्कार के लिए तिथि, नक्षत्र, और मास का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है।

  • हिन्दू पंचांग के अनुसार, बच्चों का मुंडन चैत्र, वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़, माघ, और फाल्गुन मास में करना उपयुक्त माना जाता है। ज्येष्ठ माह में जन्म लेने वाले बच्चों का मुंडन नहीं किया जाना चाहिए।
  • मुंडन संस्कार के लिए शुभ मानी जाने वाली तिथियाँ हैं: द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, और त्रयोदशी।
  • मुंडन के लिए सोमवार, बुधवार, गुरुवार, और शुक्रवार को शुभ माना जाता है। हालांकि, बालिकाओं का मुंडन शुक्रवार को नहीं किया जाना चाहिए।

मुंडन संस्कार की विधि

मुंडन संस्कार कराते समय यह ध्यान रखना चाहिए:

  1. शुभ मुहूर्त: एक अच्छा शुभ मुहूर्त चुनना चाहिए, जिसे पंडित या ज्योतिषी सलाह देगा।
  2. स्थल: मुंडन संस्कार घर में या मंदिर में हो सकता है।
  3. हवन: हवन करना अवश्य होता है, जिसमें मां बच्चे को गोद में लेती हैं।
  4. बालों का काटना: पंडित स्पेशल मंत्रों के साथ कुछ बाल काटते हैं, फिर नाई बच्चे के बाल काटता है।
  5. पूजा और हवन: गणेश पूजा और हवन होता है, जिसे पंडित करते हैं।
  6. आरती: समारोह के अंत में आरती होती है।
  7. भोजन: नाई और पंडित को भोजन कराना और दानदक्षिणा देना न भूलें।

मुंडन संस्कार के लाभ

मुंडन संस्कार के कुछ प्रमुख लाभ निम्नलिखित हैं:

  1. शुभ शक्ति की प्राप्ति: मान्यता है कि मुंडन संस्कार से व्यक्ति को शुभ शक्तियाँ प्राप्त होती हैं और नकारात्मक ऊर्जा को नष्ट करती है। यह बच्चे के उद्दीपन और उन्हें शांति, स्थिरता और सकारात्मकता की ओर ले जाता है।
  2. धार्मिक महत्व: हिन्दू धर्म में, मुंडन संस्कार को धार्मिक महत्व दिया जाता है। यह बच्चे को हिन्दू धर्म की परंपरा और शिक्षा से परिचित कराता है।
  3. रोगनिवारण: कुछ लोग मानते हैं कि मुंडन संस्कार से बच्चे के स्वास्थ्य को लाभ होता है। यह शिशु के सिर की चारमेजाँ को स्वस्थ्य बनाए रखने में मदद करता है और छोटे बच्चे को बीमारियों से बचाता है।
  4. सोचने की क्षमता: कुछ लोग मानते हैं कि मुंडन संस्कार से बच्चे की सोचने की क्षमता और बुद्धिमत्ता विकसित होती है। यह उनके मानसिक और बौद्धिक विकास को बढ़ावा देता है।
  5. अनुशासन: मुंडन संस्कार एक प्रकार की सामाजिक अनुशासन होता है। इससे बच्चा समाज में संपन्नता और सम्मान के साथ अपनी प्रासंगिक भूमिका को स्वीकार करता है।

ये सभी लाभ मुंडन संस्कार के विभिन्न पहलुओं को संजीवनी देते हैं।

Mundan Muhurat 2024 Thakur Prasad Pdf Download

2024 का मुंडन मुहूर्त ठाकुर प्रसाद पीडीएफ़ डाउनलोड करने के लिए निम्नलिखित लिंक पर क्लिक करें:

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
Best Wordpress Adblock Detecting Plugin | CHP Adblock