उपनिषद | Upanishads

उपनिषद Upanishads

मुख्य उपनिषद (10 Major Upanishads )

‟ ईश-केन- कठ- प्रश्न -मुण्ड- मांडूक्य- तैत्तिरीय।
ऐतरेय -च-छान्दोग्य बृहदारण्यक – तथा।। ”

उपनिषद |Upanishad

ईशावास्योपनिषद्

Ishavasya Upanishad

केनोपनिषद्

Kena Upanishad

कठोपनिषद्

Kaṭhopaniṣad

प्रश्नोपनिषद्

Prashnopanishad

मुण्डकोपनिषद्

Mundaka Upanishad

मानडयूकोपनिषद

Mandukya Upanishad

तैत्तिरीयोपनिषद्

Taittiriya Upanishad

ऐतरेयोपनिषद्

Aitereya Upanishad

छांदोग्य उपनिषद

Chandogya Upanishad

बृहदारण्यकोपनिषद

Brihadaranyaka Upanishad

Minor (Samanya) Upanishads

1. अथर्वशिर उपनिषद् (Atharvaśira Upaniṣad)
2. अध्यात्मोपनिषद् (Adhyātmopaniṣad)
3. अवधूतोपनिषद् (Avadhūtopaniṣad)
4. आत्मपूजोपनिषद् (Ātmapūjopaniṣad)
5. आत्मोपनिषद् (Ātmopaniṣad)
6. आरुण्युपनिषद् (Āruṇyupaniṣad)
7. आश्रमोपनिषद् (Āśramopaniṣad)
8. कठरुद्रोपनिषद् (Kaṭharudropaniṣad)
9. कैवल्योपनिषद् (Kaivalyopaniṣad)
10. क्षुरिकोपनिषद् (Kṣurikopaniṣad)
11. जाबालोपनिषद् (Jābālopaniṣad)
12. जाबाल्युपनिषद् (Jābālyupaniṣad)
13. तुरीयातीतोपनिषद् (Turīyātītopaniṣad)
14. द्वयोपनिषद् (Dvayopaniṣad)
15. निर्वाणोपनिषद् (Nirvāṇopaniṣad)
16. पंच ब्रह्मोपनिषद् (Paṃca Brahmopaniṣad)
17. परब्रह्मोपनिषद् (Parabrahmopaniṣad)
18. परमहंस परिव्राजकोपनिषद् (Paramahaṃsa Parivrājakopaniṣad)
19. परमहंसोपनिषद् (Paramahaṃsopaniṣad)
20. पैङ्गलोपनिषद् (Paiṅgalopaniṣad)
21. ब्रह्मबिन्दूपनिषद् (Brahmabindūpaniṣad)
22. ब्रह्मविद्योपनिषद् (Brahmavidyopaniṣad)
23. ब्रह्मोपनिषद् (Brahmopaniṣad)
24. भिक्षुकोपनिषद् (Bhikṣukopaniṣad)
25. मण्डलब्राह्मणोपनिषद् (Maṇḍalabrāhmaṇopaniṣad)
26. महावाक्योपनिषद् (Mahāvākyopaniṣad)
27. मैत्रेय्युपनिषद् (Maitreyyupaniṣad)
28. याज्ञवल्क्योपनिषद् (Yājñavalkyopaniṣad)
29. योगतत्त्वोपनिषद् (Yogatattvopaniṣad)
30. वज्रसूचिकोपनिषद् (Vajrasūcikopaniṣad)
31. शाट्यायनीयोपनिषद् (Śāṭyāyanīyopaniṣad)
32. शाण्डिल्योपनिषद् (Śāṇḍilyopaniṣad)
33. शारीरकोपनिषद् (Śārīrakopaniṣad)
34. संन्यासोपनिषद् (Saṃnyāsopaniṣad)
35. सुबालोपनिषद् (Subālopaniṣad)
36. स्वसंवेद्योपनिषद् (Svasaṃvedyopaniṣad)
37. हंसोपनिषद् (Haṃsopaniṣad)
38. अक्षमालिकोपनिषद् (Akṣamālikopaniṣad)
39. अक्ष्युपनिषद् (Akṣyupaniṣad)
40. कलिसंतरणोपनिषद् (Kalisaṃtaraṇopaniṣad)
41. कालाग्निरुद्रोपनिषद् (Kālāgnirudropaniṣad)
42. कृष्णोपनिषद् (Kṛṣṇopaniṣad)
43. गणपत्युपनिषद् (Gaṇapatyupaniṣad)
44. गरुडोपनिषद् (Garuḍopaniṣad)
45. गायत्री रहस्योपनिषद् (Gāyatrī Rahasyopaniṣad)
46. गोपालपूर्वतापिन्युपनिषद (Gopālapūrvatāpinyupaniṣad)
47. चतुर्वेदोपनिषद् (Caturvedopaniṣad)
48. चाक्षुषोपनिषद् (Cākṣuṣopaniṣad)
49. तुलस्युपनिषद् (Tulasyupaniṣad)
50. त्रिपुरोपनिषद् (Tripuropaniṣad)
51. दक्षिणामूर्युपनिषद् (Dakṣiṇāmūryupaniṣad)
52. देव्युपनिषद् (Devyupaniṣad)
53. ध्यानबिन्दूपनिषद् (Dhyānabindūpaniṣad)
54. नारायणोपनिषद् (Nārāyaṇopaniṣad)
55. नीलरुद्रोपनिषद् (Nīlarudropaniṣad)
56. नृसिंहपूर्वतापिन्युपनिषद् (Nṛsiṃhapūrvatāpinyupaniṣad)
57. नृसिंहषट्चक्रोपनिषद् (Nṛsiṃhaṣaṭcakropaniṣad)
58. पाशुपत ब्राह्मणोपनिषद् (Pāśupata Brāhmaṇopaniṣad)
59. प्राणाग्निहोत्रोपनिषद् (Prāṇāgnihotropaniṣad)
60. बवृचोपनिषद् (Bavṛcopaniṣad)
61. भावनोपनिषद् (Bhāvanopaniṣad)
62. महोपनिषद् (Mahopaniṣad)
63. योगकुण्डल्युपनिषद् (Yogakuṇḍalyupaniṣad)
64. योगचूडामण्युपनिषद् (Yogacūḍāmaṇyupaniṣad)
65. योगराजोपनिषद (Yogarājopaniṣada)
66. कुण्डिकोपनिषद् (Kuṇḍikopaniṣad)
67. कौषीतकि ब्राह्मणोपनिषद् (Kauṣītaki Brāhmaṇopaniṣad)
68. अमृतनादोपनिषद् (Amṛtanādopaniṣad)
69. एकाक्षरोपनिषद् (Ekākṣaropaniṣad)
70. गायत्र्युपनिषद् (Gāyatryupaniṣad)
71. नादबिन्दूपनिषद् (Nādabindūpaniṣad)
72. निरालम्बोपनिषद् (Nirālambopaniṣad)
73. प्रणवोपनिषद् (Praṇavopaniṣad)
74. मन्त्रिकोपनिषद् (Mantrikopaniṣad)
75. मुद्गलोपनिषद् (Mudgalopaniṣad)
76. मैत्रायण्युपनिषद् (Maitrāyaṇyupaniṣad)
77. शिवसंकल्पोपनिषद् (Śivasaṃkalpopaniṣad)
78. शुकरहस्योपनिषद् (Śukarahasyopaniṣad)

उपनिषद कितने हैं in Hindi?

उपनिषदों की संख्या लगभग 108 मानी जाती है। ये अन्तर्वेद के भाग हैं और हिंदू धर्म की प्राचीन ग्रंथों में से एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

उपनिषदों की मुख्य शिक्षाएँ क्या हैं?

उपनिषदों की मुख्य शिक्षाएँ: अद्वैत वेदांत, ब्रह्म की अस्तित्व, कर्म और पुनर्जन्म, ध्यान और योग, नैतिकता, गुरु-शिष्य संबंध, और द्वैतों के पार उच्चता का अनुभव। ये उपनिषदियाँ सत्य, आत्म-ज्ञान, और मोक्ष की ओर मार्गदर्शन करती हैं, हिन्दू धर्म में अत्यधिक महत्वपूर्ण हैं।

उपनिषदों कितने प्रकार है ?

उपनिषदों को विभिन्न प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है, जैसे उनके दार्शनिक दृष्टिकोण, उनके संबंधित वेदों से, और उनके विषयास्तर के आधार पर। कुछ प्रमुख प्रकार शामिल हैं: मुख्य, संबंधित वेद, अद्वैत वेदांत, सांख्य और योग, और लघु उपनिषद। ये विभाजन उपनिषदों के प्रमुख और विविधतापूर्ण स्वरूप को दर्शाता है।

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
100% Free SEO Tools - Tool Kits PRO